ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
यू पी बोर्ड की परीक्षा में स्कूल प्रबंधकों की करगुजारी से ऑनलाइन  मॉनिटरिंग  में हो रही बाधा
February 21, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर


लखनऊ,(स्वतंत्र प्रयाग),उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की परीक्षा में प्राइवेट स्कूल के प्रबंधक टेक्नोलॉजी के दम पर नकल रोकने की कोशिश में खलल डाल रहे हैं। वह लोग परीक्षा के दौरान केंद्र पर जा नहीं सकते इसलिए उन्होंने वहां अपनी चोर निगाहें जमा दी है। अब इसका तोड़ भी उन्होंने वाया टेक्नोलॉजी ही निकाला।

प्रबंधकों ने स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे को अपने स्मार्ट मोबाइल फोन से जोड़ दिया और आराम से घर पर बैठे-बैठे ही चोरी-छिपे परीक्षा की निगरानी कर रहे हैं। उनकी इस कारगुजारी से जिला स्तर व राज्य स्तर पर बने ऑनलाइन कंट्रोल रूम परीक्षा केंद्र की लाइव वेब टेलीकास्ट के जरिए मॉनीटरिंग प्रभावित हो रही है।

विशेष सचिव (माध्यमिक शिक्षा) राजेश कुमार की ओर से सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों (डीआइओएस) को पत्र भेजकर प्रबंधकों के इस कृत्य पर कड़ी नाराजगी जताई गई है। सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश दिए गए हैं कि वह तत्काल प्रबंधकों द्वारा मोबाइल फोन के माध्यम से की जा रही मॉनीटरिंग को रुकवाएं। क्योंकि, इससे दोहरा नुकसान हो रहा है।

एक ओर लाइव वेब टेलीकास्ट के जरिए मॉनीटरिंग नहीं हो पा रही है और दूसरी ओर प्रबंधक गलत ढंग से घर पर बैठे-बैठे लाइव इम्तिहान देख रहे हैं। ऐसे में सभी डीआइओएस अपने-अपने जिलों में यह सुनिश्चित करेंगे कि परीक्षा केंद्रों की ऑनलाइन मॉनीटरिंग सिर्फ जिला व राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम से ही हो। उन्हें इसका प्रमाणपत्र भी राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम को भेजना होगा। अगर इसके बावजूद शिकायतें मिली तो डीआइओएस के खिलाफ कार्रवाई होगी।

यूपी बोर्ड परीक्षा की पहली बार लाइव वेब टेलीकास्ट के माध्यम से मॉनीटरिंग हो रही है। प्रदेश भर में 7784 परीक्षा केंद्रों पर 1.90 लाख सीसीटीवी कैमरे और इसके साथ वायस रिकार्ड तथा इंटरनेट का ब्राडबैंड कनेक्शन लगाया गया है। राज्य स्तर पर राजधानी में माध्यमिक शिक्षा निदेशक के शिविर कार्यालय में कंट्रोल रूम व मानीटङ्क्षरग सेल है, इसके अलावा सभी जिलों में एक-एक कंट्रोल रूम है।