ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है जिसमे तीन साल में ढाई लाख से अधिक युवाओ को सरकारी नौकरी दी गई योगी
February 9, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

लखनऊ,(स्वतंत्र प्रयाग) गोरखपुर विश्वविद्यालय परिसर में आयोजित वृहद रोजगार मेला और नियुक्ति पत्र समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रोजगार को लेकर प्रदेश सरकार की एक बड़ी योजना का ऐलान किया। 

उन्होंने कहा कि इस वर्ष सरकार की ओर से एक इंटर्नशिप स्कीम शुरू की जा रही है, जिसके तहत युवाओं को उनकी शिक्षा के मुताबिक विभिन्न संस्थाओं और उद्योगों से जोड़ा जाएगा। छह महीने या फिर साल भर की इंटर्नशिप करने वाले हर युवा को मानदेय के तौर 2500 रुपये दिया जाएगा। इसमें से 1500 रुपये केंद्र सरकार और 1000 रुपये प्रदेश सरकार वहन करेगी।

इंटर्नशिप पूरी होने के बाद युवाओं के प्लेसमेंट का इंतजाम भी सरकार की ओर से किया जाएगा  इसके लिए एक एचआर सेल भी बनाई जाएगी मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि लखनऊ एक्सपो में 70 देशों के रक्षामंत्री, विदेश मंत्री और डिफेंस चीफ के शामिल होने से यह तय हो गया है कि आने वाले समय में भारत रक्षा क्षेत्र में आयातक ही नहीं रहेगा बल्कि निर्यातक भी बनेगा।

इसका केंद्र उत्तर प्रदेश बनेगा। उन्होंने बताया कि डिफेंस कॉरिडोर में निवेश के लिए देश-विदेश की विभिन्न कंपनियों से करार किया गया है। इससे करीब 50 करोड़ का निवेश आएगा और पांच लाख युवाओं को नौकरी और रोजगार प्राप्त होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं की ऊर्जा और प्रतिभा को केंद्र और प्रदेश की सरकारें बखूबी जानती हैं।

हर युवा को उसके विशेषज्ञता क्षेत्र व क्षमता के मुताबिक रोजगार मिले, इसके लिए नए-नए कार्यक्रमों की श्रृंखला शुरू की गई है, जिसका लाभ उन्हें मिल रहा है।रोजगार को लेकर प्रदेश सरकार की तीन वर्ष की उपलब्धियां गिनाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा नौकरियों में इंटरव्यू की प्रथा को समाप्त करते हुए सीधे नौकरी देने की परंपरा शुरू की गई है। पूर्ववर्ती सरकारें जितना रोजगार पांच वर्ष में नहीं दे पाती थी, उससे तीन गुना अधिक रोजगार वर्तमान सरकार ने महज तीन वर्ष में दिया है।

इन्वेस्टर्स समिट का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इससे ढाई लाख करोड़ से अधिक का निवेश हासिल हुआ, जिससे 35 लाख नौजवानों को रोजगार से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है, जिसने तीन वर्ष में ढाई लाख से अधिक युवाओं को सरकारी नौकरी दी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार का प्रयास है कि आने वाले समय में हर तहसील में एक आइटीआइ और कौशल विकास केंद्र हो, जिससे युवाओं को उनके हुनर का मंच आसानी से मिल सके। इससे रोजगार की समस्या का समाधान तो होगा ही युवाओं का पलायन भी रुकेगा।


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पुलिस सेवा में महिलाओं की भागदारी बढ़ाने के सरकार के फैसले का जिक्र करते हुए कहा कि अब पुलिस भर्ती में 20 फीसद स्थान बलिकाओं को दिया जाएगा। इससे प्रदेश की सुरक्षा में उनका योगदान सुनिश्चित हो सकेगा।कार्यक्रम को प्रदेश के रोजगार व सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने भी संबोधित किया। कहा कि प्रदेश में हर गरीब के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए प्रदेश सरकार निरंतर प्रयास कर रही है।

वह दिन दूर नहीं जब प्रदेश का एक भी युवा बेरोजगार नहीं रहेगा। आभार ज्ञापन सांसद रवि किशन ने किया। इस दौरान जिले के प्रभारी मंत्री रमापति शास्त्री, विधायक डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल, संगीता यादव, विपिन सिंह, संत प्रसाद, शीतल पांडेय, डॉ. विमलेश पासवान, क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ. धर्मेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

रोजगार मेले में 91 कंपनियों ने अपना स्टाल लगा रखा है, जिसमें रजिस्ट्रेशन के लिए बेरोजगार युवाओं की भारी भीड़ उमड़ी हुई है। इस मेले से 12 हजार युवाओं को रोजगार दिया जाना है।कार्यक्रम को प्रदेश के रोजगार व सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने भी संबोधित किया। कहा कि प्रदेश में हर गरीब के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए प्रदेश सरकार निरंतर प्रयास कर रही है।

वह दिन दूर नहीं जब प्रदेश का एक भी युवा बेरोजगार नहीं रहेगा। आभार ज्ञापन सांसद रवि किशन ने किया। इस दौरान जिले के प्रभारी मंत्री रमापति शास्त्री, विधायक डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल, संगीता यादव, विपिन सिंह, संत प्रसाद, शीतल पांडेय, डॉ. विमलेश पासवान, क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ. धर्मेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

रोजगार मेले में 91 कंपनियों ने अपना स्टाल लगा रखा है, जिसमें रजिस्ट्रेशन के लिए बेरोजगार युवाओं की भारी भीड़ उमड़ी हुई है। इस मेले से 12 हजार युवाओं को रोजगार दिया जाना है।