ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
तब्लीगी जमात के चीफ मौलाना का परिवार पॉजिटिव, उनके बीबी के दो भाइयों को हुआ कोरोना
April 15, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राष्ट्रीय


नई दिल्ली,(स्वतंत्र प्रयाग)पूरे देश भर मे हजारों की संख्या मे घूम घूमकर जिस तरह से जमाती लगातार कोरोना वायरस फैला रहे हैं, उससे स्थिति और गंभीर होती जा रही है, वहीं दिल्ली निज़ामुद्दीन  मरकज़ मस्जिद का चीफ़ मौलाना मोहम्मद साद के परिवार वाले भी अब इस वायरस का शिकार होने लगे हैं, जिसमे उसकी ससुराल मे उसके दोनों साले कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं, फिलहाल दोनों को ही हॉस्पिटल मे एडमिट किया गया है।


दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज के प्रमुख मौलाना मुहम्मद साद की ससुराल यूपी के सहारनपुर मे है, यहीं पर उसकी ससुराल मे कोरोना संक्रमण पहुंच गया है  उसकी बीवी के दो भाई की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद से ही पूरे एरिया को पुलिस ने सील कर दिया है ये दोनों साले हाल ही में फ्रांस से लौटे थे  इन दोनों का सैम्पल 7 अप्रैल को भेजा गया था, जिसकी रिपोर्ट अभी आई है इसके बाद पूरे इलाके को सील कर सैनिटाइज किया गया।

आपको बताते चलें कि दिल्ली के निज़ामुद्दीन मरकज़ का चीफ़ उत्तर प्रदेश के शामली जिले का रहने वाला है, और उसकी ससुराल सहारनपुर जिले के मुफ्ती मोहल्ले में हैं  कोरोना पॉजिटिव पाए गए उसके दोनों साले यहीं रहते हैं इसमें से एक तो मोहल्ले में स्थित मस्जिद का मौलाना है मौलाना साद को क्राइम ब्रांच खोज रही है, अब तक कोई सुराग नहीं लगा है।


यूपी की योगी सरकार ने उसकी तलाश के लिए पांच टीमें गठित की हैं जबकि दिल्ली पुलिस ने भी दो टीमें बनाईं हैं इन टीमों ने मरकज प्रमुख के शामली स्थित पैतृक निवास से लेकर सहारनपुर में उसके ससुराल तक दबिश दी थी  लेकिन वह अभी तक हाथ नहीं लगा है  इस बीच, दिल्ली पुलिस ने उस पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया है।

आपको बताते चलें कि, दिल्ली के निज़ामुद्दीन मरकज़ मे धार्मिक सम्मेलन के तहत देशभर से मुस्लिम जमातीयों को इकट्ठा किया गया था, यहीं से 12 मार्च को सारे जामतियों को पूरे देश के अलग अलग क्षेत्रों मे भेजा गया, और इन सभी को जिले कि कई मस्जिदों मे छुपाकर रखा गया था, जिनमे बाहर से ताला लगा था।


इसके बाद पुलिस ने हर तरफ मस्जिदों मे तलाशी लेनी शूरु कि तो सारे जामतियों का मिलना शूरु हुआ, अब तक पॉज़िटिव केस मे से 50 प्रतिशत जमातीयों का नाम है, और अब इन्हीं कि वजह से दूसरे लोग भी प्रभावित हो रहे हैं  इंदौर, गाजियाबाद, मुंबई, भोपाल, लखनऊ, पीलीभीत, भदोही, आजमगढ़, मुरादाबाद, आंध्र, समेत कई क्षेत्रो मे पुलिस और डॉक्टर कि टीम पर हमला करके उन्हे बुरी तरह से घायल किया है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी मे किसी भी प्रकार से जामतियों के साथ देने पर देशद्रोह का केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं, साथ ही नुकसान कि भरपाई भी इन्हीं लोगों कि संपत्ति बैंचकर करने को कहा गया है वहीं केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने भी इन सभी उपद्रवियों का साथ देने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाई करने का आदेश दिया है।