ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
स्कूल ड्रेस के साथ मास्क हो सकता है अनिवार्य , सरकार शोसल डिस्टेंसिंग के लिए तैयार कर रही गाइडलाइन
May 1, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

 

नई दिल्ली,(स्वतंत्र प्रयाग), मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्रालय स्कूल, कॉलेजों में सोशल डिस्टेंसिंग की नई गाइडलाइन तैयार कर रहा है, ताकि जब पढ़ाई शुरू हो तो संक्रमण फैलने का खतरा नहीं रहे,  इसके लिए क्लासरूम में बैठने से लेकर मेस, लाइब्रेरी, हॉस्टल और कैंटीन तक के लिए नियमों में बदलाव करने का विचार है। स्कूल यूनिफॉर्म के साथ मास्क भी अनिवार्य किया जा सकता है।

स्कूल बस, वॉशरूम इस्तेमाल की गाइडलाइन भी तय होगी
न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, स्कूलों में मॉर्निंग असेंबली और स्पोर्ट्स एक्टिविटी बंद की जा सकती हैं।

स्कूल बस, वॉशरूम और कैफेटेरिया के लिए भी नियम बन सकते हैं। समय-समय पर पूरी इमारत को सैनिटाइज करने के निर्देश दिए जा सकते हैं। बोर्डिंग स्कूलों के मेस और हॉस्टल में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम लागू होंगे।
कोरोना के हालातों को देखते हुए गाइडलाइन बनेंगी
नई गाइडलाइन में छात्रों और स्टाफ की सुरक्षा के लिए जरूरी सुझाव शामिल होंगे।

इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा कि किसी इलाके में कोरोना के हालात क्या हैं? यह जरूरी नहीं होगा कि कोई संस्थान सभी गाइडलाइन को माने, बल्कि वह अपने इलाके में कोरोना की स्थिति के आधार पर फैसला ले सकेगा।

आईआईटी कैंपस में शिफ्टों में क्लास लगाने का विचार
एचआरडी मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक गाइडलाइन तैयार होने के बाद राज्यों से साझा की जाएंगी ताकि, वे स्कूल-कॉलेज खुलने से पहले तैयारी कर सकें। गाइडलाइन फॉलो करवाने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन को दी जाएगी।

सोशल डिस्टेंसिंग रखने के लिए कैंपस के कुछ इलाकों की मरम्मत भी करवाई जाएगी। देश के कई आईआईटी संस्थान कैंपस में विजिटर्स की एंट्री बंद करने, शिफ्टों में क्लास लगाने और लैब का टाइम अलग-अलग करने की योजना पर भी विचार कर रहे हैं।

यूजीसी ने अगस्त से नए सेशन की सिफारिश की है
देशभर में कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की वजह से यूनिवर्सिटी और स्कूल 16 मार्च से बंद हैं। ऐसे में परीक्षाएं भी पूरी नहीं हो पाई थीं।

यूजीसी ने यूनिवर्सिटी और कॉलेज में पुराने छात्रों के लिए अगस्त से और नए छात्रों के लिए सितंबर से सेशन शुरू करने की सिफारिश की है। सीबीएसई ने कहा है कि वह 10वीं और 12वीं बोर्ड की 29 विषयों की बची हुई परीक्षाएं करवाएगा।हालांकि, अभी तक शेड्यूल जारी नहीं किया है। कई राज्य 8वीं तक के छात्रों को बिना परीक्षा लिए अगली क्साल में प्रमोट कर चुके हैं।