ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
सिरफिरे आशिक ने प्रेमिका के ऊपर पेट्रोल डालकर जलाया प्रेमिका गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती
February 4, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

नागपूर,(स्वतंत्र प्रयाग)  देश भर मे बढ़ते जा रहे महिला अपराधो मे लोगो को एक दूसरे से मित्रवत संबंध भी शक पैदा करने पर मजबूर करने लगे हैं, वहीं महिलाओं के प्रति हिंसातमाक घटनाएँ और बढ़ती जा रही हैं। महाराष्ट्र के नागपुर से कुछ दूरी पर स्थित वर्धा जिले के हिंगणघाट मे एक गंभीर घटना फिर देखने को मिली।

लड़का और लड़की एक दूसरे को पहले से जानते थे,उन दोनों मे बातचीत भी होती थी। लेकिन लड़के की शादी हो जाने के बाद लड़की ने उससे दूरी बना ली। जिस पर लड़का नाराज रहने लगा, उसने उससे भी शादी करने की बात कही, लेकिन लड़की ने इंकार कर दिया।

 

प्यार मे पड़े प्रेमी ने उस लड़की के ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। सिरफिरे आशिक ने कॉलेज लेक्चरर को सड़क पर पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने की कोशिश की। सोमवार सुबह हुई इस घटना में 25 वर्षीय अंकिता पिसुदे गंभीर रूप से झुलस गई। उसकी आवाज जा चुकी है।

वह सांस भी नहीं ले पा रही। आंखों की रोशनी भी बच पाने की उम्मीद भी कम है। उसे नागपुर स्थित ऑरेंज सिटी हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। आरोपी विकाश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
 
वर्धा जिले के दरोदा गांव की रहने वाली अंकिता पिसुदे महिला कॉलेज में लेक्चरर है। वह सोमवार सुबह 7:15 बजे रोज की तरह 75 किमी दूर कॉलेज जाने के लिए बस में सवार हुई। हिंगणघाट में कॉलेज नजदीक आने पर बस से उतरी।

वहां पहले से मौजूद अंकिता के ही गांव का रहने वाला विकेश नागराले (27) अपनी स्कूटी से पेट्रोल निकालकर अंकिता के पास आया। अंकिता कुछ समझ पाती, इससे पहले विकेश ने उस पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी और वहां से भाग निकला।

वारदात के वक्त स्कूल जाने वाली कुछ बच्चियां वहां से गुजर रही थीं। अंकिता को झुलसते देख इन बच्चियों ने शोर मचाकर आसपास के लोगों को बुलाया। लोगों ने अंकिता पर पानी डाला। तब तक उसका चेहरा 40% तक झुलस चुका था। प्लास्टिक सर्जन डॉ. दर्शन रेवणवार ने बताया कि अंकिता की आवाज जा चुकी है।

उसकी आंखों की रोशनी भी कायम रहने की उम्मीद कम है। उसका सिर, चेहरा, बायां हाथ, पीठ और गर्दन झुलस गई है। उसे सांस लेने में भी दिक्कत हो रही है, इसलिए अगले 72 घंटे महत्वपूर्ण हैं।

 

पुलिस सूत्रों ने बताया कि अंकिता और विकेश में पहले बातचीत थी। बाद में विकेश की शादी हो गई। इसके बाद भी वह अंकिता से शादी करना चाहता था, उसे बात करने की कोशिश करता था। लेकिन अंकिता बातचीत से इनकार करती थी। इसी के चलते विकेश ने तीन महीने पहले खुदकुशी की कोशिश की थी।

विकेश 4 महीने की बच्ची का पिता है। वर्धा के पुलिस अधीक्षक बासवराज तेली ने बताया कि आरोपी विकेश को तालघाट गांव से गिरफ्तार कर लिया गया है। काेर्ट ने उसे 8 फरवरी तक पुलिस रिमांड में भेजा है।

अंकिता की मां से नागपुर में बातचीत की। उन्होंने कहा,‘‘हमने ऐसा क्या किया था जो आज हम पर ऐसा संकट आया है? मेरी बेटी की ऐसी हालत करने वाले को सरकार भी ऐसी ही सजा दे। आज मेरी बेटी के साथ ऐसा हुआ। कल वो छूटा तो किसी और बेटी के साथ ऐसा करेगा। ऐसे दरिंदों को समाज में रहने का अधिकार नहीं है।

मेरी बेटी बहुत अच्छी है। उसने एमएससी किया। बेटी महफूज रहे, इसलिए क्या उसे घर में बंद रखते? आज हर जगह बेटियां असुरक्षित हैं। देशभर में ऐसी ही बातें सुनने को मिलती हैं। सरकार को कुछ करना चाहिए।’’ लड़की के पिता ने कहा कि विकेश बस में मेरी बेटी का पीछा करता था। हमने उसे छह महीने समझाया भी था। हम इस भ्रम में थे कि वह अब कुछ नहीं करेगा।