ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमे जीत हासिल करने के लिए 3 मई तक लॉक डाउन में ही रहना पड़ेगा, कल इस पर विस्तार से बताऊंगा
April 14, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राष्ट्रीय


नई दिल्ली,(स्वतंत्र प्रयाग)कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन की अवधि आज खत्म होने जा रही है और प्रधानमंत्री इसके संभावित विस्तार को लेकर पीएम मोदी राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा की अन्य देशों के मुक़ाबले भारत ने कोरोना संक्रमण को रोका है।

आप सभी ने बहुत सहयोग किया है, और आप न होते तो भारत की स्थिति बहुत भयावह होती  आज आप भी देख रहे है की सोश्ल डिस्टेंकिंग का पालन न करने वाले देश किस तरह इस महामारी से परेशान है। उनके पास इससे छुटकारा पाने का कोई उपाय नहीं हैं। 

PM मोदी का राष्ट्र सम्बोधन

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा, ‘‘नमस्ते मेरे प्यारे देशवासियों, कोरोना के खिलाफ भारत की लड़ाई बहुत मजबूती के साथ आगे बढ़ रही है  आप सभी देशवासियों की तपस्या और त्याग की वजह से भारत अब तक कोरोना से होने वाले नुकसान को काफी हद तक टालने में सफल रहा।

आप लोगों ने कष्ट सहकर भी अपने देश और भारत वर्ष को बचाया है मैं जानता हूं कि आपको कितनी दिक्कतें आई हैं  किसी को आने जाने की परेशानी, कोई घर-परिवार से दूर है लेकिन आप देश की खातिर एक अनुशासित सिपाही की तरह अपने कर्तव्य निभा रहे हैं।

मैं आप सभी को आदरपूर्वक नमन करता हूं ’’ ‘‘हमारे संविधान में जिस ‘We the people if India’ की शक्ति की बात कही गई है, वह यही तो है बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जयंती पर हम भारत के लोगों की तरफ से अपनी सामूहिक शक्ति का प्रदर्शन और संकल्प बाबा साहब को श्रद्धांजलि है।

बाबा साहब का जीवन हमें हर चुनौती को अपनी संकल्प शक्ति और परिश्रम के बूते पर पार करने की निरंतर प्रेरणा देता है मैं सभी देशवासियों की तरफ से बाबा साहब को नमन करता हूं ’’ ‘साथियो! देश के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग त्योहारों का भी समय है।

वैसे भी भारत को उत्सवों से भरा और हरा रहता है उत्सवों के बीच खिलखिलाता रहता है  बैसाखी जैसे त्योहारों के साथ कई राज्यों में नए वर्ष की शुरुआत हुई है  लॉकडाउन के बंधनों के बीच देश के लोग जिस तरह नियमों का पालन कर रहे हैं, जितने संयम से अपने घरों में रहकर त्योहार बड़ी सादगी से मना रहे हैं, ये सारी बहुत प्रेरक और प्रशंसनीय हैं।

मैं नए वर्ष पर आपके और आपके परिवारजन के उत्तम स्वास्थ्य की मंगल कामना करता हूं ’’ ‘‘साथियो!  आज पूरे विश्व में कोरोना वैश्विक महामारी की जो स्थिति है, हम सब उससे भली-भांति परिचित हैं अन्य देशों के मुकाबले भारत ने कैसे अपने यहां संक्रमण को रोकने के प्रयास किए हैं, आप इसके सहभागी भी रहे हैं और साक्षी भी।

जब हमारे यहां कोरोना का एक भी केस नहीं था, उससे पहले ही भारत ने कोरोना प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग शुरू कर दी थी  कोरोना के मरीज 100 तक पहुंचे, उससे पहले ही भारत ने विदेश से आए हर यात्री के लिए 14 दिन का आइसोलेशन अनिवार्य कर दिया था मॉल, थिएटर, क्लब, जिम बंद किए जा चुके थे ’’

बता दें की पीएमओ ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी थी की  'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 अप्रैल 2020 को सुबह 10 बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे ' पिछले महीने प्रधानमंत्री ने 19 मार्च और 24 मार्च को राष्ट्र को संबोधित किया था।

 

उन्होंने 19 मार्च को कोरोना वायरस से निपटने के लिए संकल्प और संयम का आह्वान किया था और साथ ही रविवार 22 मार्च को एक दिन के 'जनता कर्फ्यू' की भी घोषणा की थी  प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए 24 मार्च को 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी।


वहीं, तीन अप्रैल को मोदी ने एक वीडियो संदेश जारी कर लोगों से पांच अप्रैल को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए घरों की सभी लाइटें बंद करके दीया, मोमबत्ती अथवा मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर कोरोना वायरस को हराने के लिए देश की एकजुटता को प्रदर्शित करने की अपील की थी।


जिसका जनता ने बखूबी से पालन भी किया था बता दें की देश भर की हॉस्पिटल से आई अबतक की रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 10,453 हो गया है, जिसमें से 8,902 सक्रिय रूप से है जिनकी इलाज़ लगातार हॉस्पिटल में चल रही है।

वहीं देश में अब अक इस वायरस से 358 लोगों की मौत हो चुकी है और 1,193 लोग रिकवर होकर घर जा चुके है, लेकिन इन्हे डॉक्टर की तरफ से खास हिदायत है की आप होम क्वेरेंटाइन रहेंगे, जबतक की पूरी तरफ स्वस्थ्य न हो जाये।