ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
पत्नी से मिलने इंस्पेक्टर नही पहुँच पाए हॉस्पिटल, डॉक्टर से कहा मेरे बेटे तथा पत्नी का रखना ख्याल
April 17, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर


सहारनपुर,(स्वतंत्र प्रयाग) देशभर के साथ ही पूरे उतर प्रदेश मे इस वक़्त कोरोना ने आतंक फैला रखा है, इस वक़्त पूरा प्रदेश लॉक डाउन हो चुका है, जिसे 3 मई तक बढ़ाया गया है, हर तरफ कोरोना से लड़ने वाले योद्धाओं की हर कोई तारीफ कर रहा है, जिसमे पुलिस, मेडिकल टीम और मीडिया, शामिली हैं, ऐसी ही एक योद्धा की जानकारी आज हुई है।

यूपी के सहारनपुर जिले में 16 अप्रैल को एक सुखद घटना ने ऐसी योद्धाओं का एहसास कराया जिसमे कोविड 19 जैसी आपदा के बीच पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी के प्रति कितने सजग हैं। 

सहारनपुर के थाना गागलहेड़ी में थाना प्रभारी भानु प्रताप सिंह ने पिता बनने पर भी छुट्टी नहीं ली। उन्हें एक दिन पहले ही बेटा हुआ है, पत्नी हॉस्पिटल मे एडमिट है, लेकिन वो अपने काम पर लगे रहे।

यह समाचार मिलने पर जब परिवार वालों ने थाना प्रभारी से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि वह कोरोना खतरे के समय छुट्टी नहीं ले सकते। वहीं उन्होने डॉक्टर से कहा कि ‘मासूम से नव जन्में उनके बेटे और पत्नी का ख्याल रखें।‘

जिस अस्पताल में थाना प्रभारी की पत्नी ने बेटे को जन्म दिया, वह अस्पताल थाने से महज 15 किलोमीटर की दूरी पर थाना जनकपुरी क्षेत्र में स्थित है।


थाना प्रभारी भानू प्रताप डिलीवरी से पहले पत्नी अस्पताल भर्ती कराने के लिए पहुंचे थे लेकिन उसके बाद तुरंत ड्यूटी पर लौट आए थे। डॉक्टर ने उनसे कहा कि ऐसे में समय में पिता का रहना जरूरी है लेकिन थानेदार ने डॉक्टर को ही पत्नी और बेटे की देखभाल की जिम्मेदारी देते हुए कह दिया कि वर्तमान समय में जब पूरा देश संकट से जूझ रहा है ऐसे में उनका छुट्टी लेना उचित नहीं होगा  सुखद खबर यह है की उनकी पत्नी और बच्चा दोनों ही स्वस्थ हैं, अस्पताल से छुट्टी भी मिल चुकी है।

आपको बताते चलें कि 17 अप्रैल कि दोपहर 1 बजे तक यूपी मे कोरोना के 805 मरीज है, जिनमे से 13 कि मौत हो चुकी है  वहीं सहारनपुर जिले मे भी 13 जमाती पॉज़िटिव पाए गए थे।