ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
मोदी सरकार का 2.0 कार्यकाल निर्णायक फैसलों वाला : नड्डा
May 30, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राष्ट्रीय

नई दिल्ली, (स्वतंत्र प्रयाग न्यूज)- भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार का पहला कार्यकाल सुधारों एवं पंगु व्यवस्था को पटरी में लाने वाला था लेकिन दूसरा कार्यकाल निर्णायक कदमाें वाला है तथा कोरोना संकट में भी हम आत्मनिर्भर भारत की ओर आगे बढ़ रहे हैं।

नड्डा ने यहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र की भारतीय जनता पार्टी नीत सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक पूरा होने के अवसर पर संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मोदी सरकार 2.0 के पहले वर्ष में भारत बहुत तेजी से मजबूत हो रहा है और तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है।

पहला साल कार्य उपलब्धियों का रहा। कोरोना के अकल्पनीय संकट के काल में भी श्री मोदी ने देश को एक दृष्टि दी और देश को ठीक से संभाला है। भारत आत्मसम्मान के साथ स्वावलंबी बने, ऐसे कदम उठाये हैं।

 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार के छह साल के कार्यकाल में सात दशक के कालखंड में छूटी कमियों को पूरा करने का काम किया गया। बहुप्रतीक्षित ढांचागत विकास तथा द्रुत गति से सामाजिक एवं आर्थिक सुधार के कदम उठाये गये। गरीबों को लाभ पहुंचाया गया।

कोरोना के संकट में जनभागीदारी एवं जनसहयोग के साथ समय पर दृढ़ निर्णय लिये गये। उन्होंने कहा कि मोदी ने अटकाने, भटकाने और लटकाने की राजनीति को समाप्त करके सुधार प्रदर्शन एवं परिवर्तन की राजनीति शुरू की है।उन्होंने कहा कि वह मोदी के दूसरे कार्यकाल के प्रथम वर्ष पूर्ण होने पर उनको अपनी और करोड़ों कार्यकर्ताओं की ओर से हार्दिक बधाई देते हैं तथा पार्टी के अध्यक्ष की दृष्टि से शुभकामनाएं देते हैं कि श्री मोदी पूरी ताकत के साथ जैसा उन्होंने पिछले छह वर्षों में देश की सेवा प्रधानमंत्री के रूप में की है।

उसी ताकत के साथ पूरी शक्ति से देश की सेवा में जुटे रहें। नड्डा ने कहा कि आज हम जब एक साल पूरा कर रहे हैं तो पूरा विश्व कोरोना वायरस के संक्रमण से उपजे संकट के साये में है। अन्य देशों के मुकाबले भारत ने श्री मोदी के नेतृत्व में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई इस तरह लड़ी जिसमें भारत की स्थिति संभली हुई है।

लॉकडाउन के समय भारत की कोरोना वायरस टेस्ट की क्षमता सिर्फ 10 हजार टेस्ट प्रतिदिन थी और आज ये क्षमता 1.60 लाख टेस्ट प्रतिदिन है। आज देश में करीब 4.50 लाख पीपीई किट प्रतिदिन देश में बन रहे हैं। करीब 58 हजार वेंटिलेटर देश में बन रहे हैं।

यह है आत्मनिर्भर भारत का नमूना।उन्होंने कहा कि भारत ने इस संकट में खुद को संभाला है और श्री मोदी के नेतृत्व में हम आत्मनिर्भर भारत की ओर आगे बढ़ रहे हैं। स्वदेशी और स्वावलंबन के मंत्र को लेकर हम आज आगे बढ़ रहे हैं। 1.70 लाख करोड़ रुपये का प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज दिया गया। उसके माध्यम से 80 करोड़ लोगों के राशन की व्यवस्था की गई। 20 करोड़ महिलाओं के जनधन खातों में 500 रुपये की मदद, बुजुर्गों और दिव्यांगों को आर्थिक सहायता और मनरेगा मजदूरी में वृद्धि की गई।