ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
मध्य प्रदेश के नौ जिले में नही खुलेंगी शराब की दुकानें: शिवराज सिंह चौहान
May 4, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर


भोपाल,(स्वतंत्र प्रयाग) देशभर मे लॉक डाउन के दौरान राज्यों की अर्थ व्यवस्था की हालत मे सुधार लाने के लिए राज्य सरकारों को शराब के साथ अन्य  मई तक जरूरी दुकान खोलने के लिए केंद्र ने सहमती के साथ आदेश भी जारी कर दिए हैं  जिसमे लॉकडाउन के तीसरे चरण में मई से  केंद्र सरकार ने भले ही शराब दुकानें खोलने की छूट राज्यों को दे दी है, लेकिन मध्य प्रदेश के भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, देवास, खंडवा, बड़वानी और धार जैसे रेड जोन में शामिल जिलों में फिलहाल शराब दुकानें नहीं खुलेंगी  सूत्रों के मुताबिक शराब दुकानें खोलने को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। 

रेड जोन में शामिल जिले (भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, देवास, खंडवा, बड़वानी और धार) में शराब दुकानें कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए उठाए जा रहे कदमों के मद्देनजर फिलहाल नहीं खोलने पर सहमति बनी।

वहीं, ग्रीन और ऑरेंज जोन में शामिल जिलों में शराब दुकानें लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए खोली जा सकती हैं  इसे लेकर आबकारी आयुक्त की ओर से सभी कलेक्टरों को दिशा-निर्देश भी दिए जा चुके हैं  वहीं शराब की अवैध बिक्री को रोकने और प्रिंट रेट से ज्यादा दाम वसूलने वालों पर कार्यवाई को लेकर भी निर्देश जारी  किए जा चुके हैं।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार ग्रीन और ऑरेंज जोन में शामिल जिलों में भी जिला आपदा प्रबंधन समूह से चर्चा कर कलेक्टर निर्णय लेंगे आबकारी विभाग को ठेकेदारों के साथ कई औपचारिकताएं पूरी करनी है, लिहाजा सोमवार से शराब दुकानें नहीं खुल पाएंगी।

आपको बताते चलें कि, मध्य प्रदेश मे 4 मई सुबह 10:00 बजकर 30 मिनट तक के रिपोर्ट के अनुसार, कुल पॉजिटिव 2,837 पूरे राज्य भर मे हैं, जिनमें से 156 लोग मारे जा चुके हैं, वहीं 798 लोग ठीक भी हो चुके हैं जिन्हें विशेष हिदायत के साथ घरों में सावधानी के साथ रहने को कहा गया है।

मध्य प्रदेश के इंदौर में सबसे गंभीर स्थिति अभी भी बनी हुई है, जहां पिछले 24 घंटे में 23 पॉजिटिव मिले हैं, और 24 घंटों में दो की मौत भी हो चुकी है, इंदौर में कुल पॉजिटिव संख्या 1,568 लोगों की है, जिसमें 76 लोग अब तक मारे जा चुके हैं।

राजधानी भोपाल में 532 लोग पॉजिटिव है जिनमें 15 की मौत हो चुकी है 

उज्जैन में 156 लोग पॉजिटिव हैं 30 लोग मारे जा चुके हैं।


वही देशभर में उन होने के बाद मध्य प्रदेश के एक लाख से ज्यादा लोग लगभग 7 राज्यों में फैले हुए हैं जिन्हें वापस लाने के लिए शिवराज सिंह चौहान ने 31 ट्रेनों का प्लान केंद्र सरकार को भेज दिया है और उन्हें भोजन पानी की व्यवस्था के साथ मुफ्त में राज्यों में लाकर उनके गृह जनपद तक छोड़ने का फैसला किया है।