ALL राज्य , शहर प्रमुख खबर खेल अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
जिलाधिकारी प्रयागराज ने चिकित्सा विभाग तथा प्रशासनिक अधिकारियो के साथ किया बैठक
May 2, 2020 • आशुतोष मिश्रा • राज्य , शहर

 

प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग) जिलाधिकारी प्रयागराज भानु चन्द्र गोस्वामी ने संगम सभागार में चिकित्सा विभाग व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ की बैठक।
 

एम्बुलेंस व्यवस्था की जानकारी लेते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि कुछ जगहों पर एम्बुलेंस की देरी से पहुंचने की शिकायत प्राप्त हो रही है, जिस पर एम्बुलेंसों के लिए प्रभारी अधिकारी निर्धारित करते हुए कहा कि इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये कि एम्बुलेंस सम्बन्धित जगह पर तत्काल उपलब्ध करायी जाए।  जिससे किसी प्रकार की अव्यवस्था का सामना न करना पड़े, एम्बुलेंस सुविधा में समय का ध्यान रखने की विशेष आवश्यकता है। 

जिलाधिकारी ने क्वारंटीन सेंटर के प्रभारियों व अधिकारियों को क्वारंटीन सेंटर में आवश्यक कपड़े, दैनिक इस्तेमाल का सामान, बच्चों के लिए दूध की बोतल  दवाईयां, बीमारी की स्थिति अन्य स्थितियों की जानकारी लेने के निर्देश दिए। साथ ही इन मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति का विशेष ध्यान रखने को कहा।

क्वारंटीन सेंटरों में लोगो को ले जाने से पहले कप, प्लेट, सैनीटाइजर, तौलिया, साबुन, साफ बिस्तर की व्यवस्था आदि की व्यवस्थाएं करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त से कहा कि क्वारंटीन सेंटरों में साफ-सफाई की व्यवस्था दुरूस्त रखने के लिए पर्याप्त संख्या में सफाई कर्मियों की व्यवस्था करेंगे।

इसके साथ ही सम्बन्धित आश्रय स्थल पर सफाई के लिए जरूरी सामान बाल्टी, मग, पानी की सप्लाई आदि की सूची बनाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने क्वारंटीन सेंटर की भौतिक स्थिति के बारे में समुचित जानकारी दिये जाने के निर्देश देते हुए कहा कि यह सुनिश्चित कर ले कि वहां पर क्वांरटीन सेंटर में पानी की टंकियों की सफाई, टैंकर आदि की व्यवस्था भी कर ली जाये।

क्वारंटीन सेंटर में जिन परिवारों को ले जाना है, उन्हें पहले सूचित कर दिया जाये व कुछ समय भी दिया जाये, जिससे वे अपनेे मूल-भूत सुविधाओं से जुड़ी कुछ सामाग्री जैसे दवा, बच्चों की बोतल अथवा अन्य जरूरी सामान अपने साथ ले जा सके।

जिलाधिकारी ने कहा कि हाॅटस्पाट वाले क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा क्षेत्र का निर्धारण कर हर घर का सैनीटाइजेशन कराये, आवश्यक वस्तुओं जैसे राशन, दूध व अखबार वालों के लिए पास जारी करें, जिससे इन आवश्यक वस्तुओं के लिए आम लोगों को परेशान न होना पड़े। उन्होंने कहा कि हाॅटस्पाट वाले क्षेत्रों में राशन का वितरण घर तक करायें जाने की व्यवस्था करें।

जिलाधिकारी ने लेखपालों व हेल्थ से जुड़े वर्करों को हाॅट स्पाट क्षेत्रों में रहने वालों की स्वास्थ्य संबंधी स्थिति, गर्भवती महिलाओं की स्थिति, दवाओं की उपलब्धता, बीमारी आदि के प्रति सतर्क रहने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के द्वारा यदि किसी प्रकार की सहायता के लिए फोन काॅल की जाती है, तो उनका फोन रिसीव कर तत्काल उन तक सहायता पहुंचायें।

उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी क्वारंटीन हाउस में मनोरंजन के साधन के रूप में टी0वी0 सेट तुरंत लगाये जाने के निर्देश दिए। उन्होंने को निर्देश दिया कि अधिकारी क्वारंटीन में रहने वालों के सम्पर्क में रहे और उन्हें वहां पर किसी तरह की परेशानी न होने पायें, इसका ध्यान रखे।

हाॅटस्पाट क्षेत्रों को सील करते समय गूगल मैपिंग से उस एरिया को पूरा सर्च कर ले एवं कुल कितने घर हाॅटस्पाट के अंतर्गत आ रहे है। इसके बाद ही सिलिंग की कार्रवाई करें। जिलाधिकारी ने डीएफओ को निर्देशित किया कि हाॅटस्पाट की सीलिंग एरिया में कराये जा रहे समस्त कार्यों की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।