ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
जिलाधिकारी ने किया 71 बिंदुओं पर किया समीक्षा बैठक
March 5, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

 

प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग), जिलाधिकारी भानुचन्द्र गोस्वामी की अध्यक्षता में संगम सभागार में 71 बिन्दुओं के विकास कार्यों की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आशीष कुमार, पी0डी0 (डी0आर0डी0ए0) के0 के0 सिंह, अर्थ एवं सांख्यिकी अधिकारी जितेन्द्र कुमार, डी0डी0ओ0 ए0के0 मौर्य सहित समस्त जनपद स्तरीय अधिकारीगण मौजूद थे।

जिलाधिकारी ने समीक्षा में अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहां कि जो भी कार्य अभी तक अपूर्ण है, उसको ससमय पूर्ण करा लिये जायें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाशत नही किया जायेगा। इसी क्रम में उन्होंने मुख्यमत्री समग्र ग्राम योजना के अन्र्तगत सम्पर्क मार्गो की समीक्षा की तथा अधिशाषी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग (प्रान्तीय खण्ड) द्वारा कार्य में रूचि न लेने पर नाराजगी व्यक्त की।

जिलाधिकारी ने कार्य को ससमय पूर्ण कराने के निर्देश दिये। पंचायती राज विभाग, समाज कल्याण विभाग के उपस्थित अधिकारियों से छात्रवृति की जानकारी ली, जिस पर समाज कल्याण अधिकारी द्वारा बताया गया, कि छात्रवृति का कार्य लगभग पूर्ण कर लिया गया है  अभी तक 7129 मामले लम्बित है, जिसको इसी माह तक पूर्ण कर लिया जायेगा, विधवा पेंशन, दिव्यांगजन, महिला हेल्पलाइन, मुख्यमंत्री आवास योजना, मनरेगा, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, हैण्डपम्पों की रिबोर की स्थिति की समीक्षा की।

उन्होंने धान क्रय केन्द्रो में डिप्टी आर0एम0ओ0 से जानकारी ली कि कितने प्रतिशत धान का क्रय कर लिया गया है, जिस पर डिप्टी आर0एम0ओ0 द्वारा बताया गया कि 102 प्रतिशत क्रय कर लिया गया है  इसके बाद शासन स्तर से धान का क्रय करना रोक दिया गया है।

सेतुओं के निर्माण की समीक्षा करते हुए बताया कि जो भी कार्य अभी अपूर्ण है, उसको होली से पहले पूर्ण करा लिये जाये नगरीय स्ट्रीट लाइट, अपशिष्ट प्रबन्धन नमामी गंगे, आदि की समीक्षा की, उन्होंने समीक्षा के दौरान विधुत कटौती की शिकायत बहुत आ रही है।

ग्रामीण क्षेत्रो में इसको दूर करने का निर्देश दिया तथा गलत बिजली विभाग का बिल जनरेट न हो इसका विशेष ध्यान रखने के निर्देश बिजली विभाग के अधिकारियों को दिये। उन्होनें आंगनवाड़ी केन्द्रो के निर्माण की जानकारी सम्बन्धित अधिकारियों से लेते हुए कार्य को ससमय पूरा करने के निर्देश दिये।

50 लाख से ऊपर की परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए उन्होंने पैक्सपेड़ के परियोजना प्रबन्धक द्वारा कार्यो में रूचि न लेने पर कार्यवाही के निर्देश दिये। इसी क्रम में उन्होनें निराश्रित गोवंश, अन्तयोदयस्थल, पंचायतभवन, मुख्यमंत्री कन्या सुमगलायोजना की समीक्षा करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि इसमें कोई भी लापरवाही कतई क्षम्य नही होगा।