ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
जसरा भीटा मार्ग में जलभराव के चलते व्यापारियो ने ब्लॉक मुख्यालय का किया घेराव
February 10, 2020 • महेश त्रिपाठी • राज्य , शहर

 

प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग) (जसरा )जसरा बाजार के खटंगिया भीटा मार्ग में जलभराव को लेकर व्यपारियो ने ब्लॉक मुख्यालय पर प्रदर्शन कर समस्या से निजात दिलाने की मांग किया तथा आक्रोशित ग्रामीणों ने विकास खंड कार्यालय पर अधिकारियो को खरी खोटी भी सुनाई।   
 

बताते चले कि सोमवार के दिन जसरा विकास खंड कार्यालय पर गांव वाले  एकत्र हो कर धरना प्रदर्शन कर जल भराव की समस्या को खत्म करने की मांग कर रहे थे।
ग्रामीण बीडीओ जसरा के चेम्बर में घुस गए भीड़ को देखकर वीडीओ जसरा ने कहा कि सफाई कर्मी भेज रहा हूं किन्तु व्यापारी  कोई बात सुनने को तैयार नही थे भीड़ को उग्र होते हुए देख ए डी ओ पंचायत जसरा समझाने की कोशिश किया।

 किन्तु व्यापारी मानने को तैयार नही थे उपस्थित सभी लोगो ने कहा कि इसकी लिखित शिकायत अधिकारियो तथा ए डी ओ पंचायत से कई बार की गई किन्तु समस्या का कोई हल नही निकल पाया।व्यपारियो  ने कहा कि जलभराव से अब इतनी स्थिति खराब हो गई कि गंदा पानी लोगो के घरों में घुसने लगा है जिससे गंदगी के साथ साथ संक्रामक बीमारी भी फैलने का भय बना हुआ है ।
 

व्यापारी  ब्लॉक मुख्यालय पर अपनी मांग पर अड़े रहे अफरातफरी का माहौल बना रहा कर्मचारी अधिकारी सभी ससंकित रहे ।अब सोचने वाला पहलू यह है कि जब जसरा बाजार की यह भयावह स्थिति है तो ग्रामीणों का क्या दशा होगी ग्राम प्रधान तथा सचिव अपनी जेब भरने में मगसूल रहते है जनता की परेशानियो से उन्हें कुछ लेना देना नही है।  

   कमोवेश यही स्थियी सभी गांव की है सफाई कर्मी कोई काम नही करते बस प्रधान के घर हाजरी लगा कर अपने काम की इतिश्री समझ लेते है । लोगो का कहना है कि सफाई कर्मियो से ब्लॉक मुख्यालय तथा प्रधान महीने में पैसे ले लेते है जिससे सफाई कर्मी और भी मनमानी करते है कुछ ऐसे सफाई कर्मी ऐसे है कि गांव तो कभी नही जाते है ब्लॉक् में जाकर वीडिओ के पास ही बैठे रहते है ब्लॉक में जो भी कार्य है वही करते है अब सवाल ये खड़ा होता है।
 

कि जब अधिकारी ही नजरअंदाज करते है सब कुछ जानते है तो क्या कार्रवाई होगी अब धीरे धीरे लोगो के सब्र टूटने लगे है अगर अधिकारियो की यही रवैया रही तो लोग मजबूर हो कर इसी तरह धरना प्रदर्शन करके अपनी समस्या का हल निकालेंगे  इस लिए की कोई भी अपने कर्तब्यव का निर्बाह करना नही चाह  रहा है।