ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
जमीनी विवाद को लेकर चटकी लाठी एक की मौत आधा दर्जन हुए लहूलुहान
May 23, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

कौशांबी,(स्वतंत्र प्रयाग )कोखराज थाना क्षेत्र के रसूलपुर बदले गांव में शुक्रवार की, शाम दबंगों ने दौड़ा- दौड़ा कर दूसरे पक्ष पर लाठियों से हमला कर दिया, इस हमले में एक व्यक्ति की मौके पर मौत हो गई है ,जबकि आधा दर्जन लोग गंभीर अवस्था में  मौत की सूचना मिलते ही मौके पर कोखराज पुलिस पहुंची , और मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है,
 वहीं घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है ।

कोखराज थाना क्षेत्र में आज की हत्या में कोखराज पुलिस की भूमिका फिर सवालों के घेरे में है।

 मृतक पक्ष के ऊपर इन्हीं हमलावरों ने 18 मई को लाठियों से हमला किया था जिसमें मृतक पक्ष के तीन लोग गंभीर घायल हुए थे, लेकिन पुलिस ने 18 मई की घटना को गंभीरता से नहीं लिया, और हमलावरों से पुलिस दोस्ती गांठने तक सीमित रह गई, जिससे हमलावरों के हौसले बुलंद रहें ,और चार दिन के अंतराल में उन्ही हमलावरो ने दोबारा हमला कर एक व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया है।
 इस हमले के पीछे जमीनी विवाद बताया जा रहा है।

घटनाक्रम के मुताबिक कोखराज थाना क्षेत्र के रसूलपुर बदले गांव निवासी देव शरण कुशवाहा ,पुत्र सरजू शरण कुशवाहा, का अपने ही गांव के पप्पू तिवारी, आदि से जमीनी विवाद लंबे समय से चल रहा है ।
इस जमीनी विवाद में भी पूर्व में पुलिस ने गंभीर कार्यवाही नहीं की जिससे दबंगों के हौसले बुलंद हो गए थे ।

 18 मई को पप्पू तिवारी पक्ष के लोगों ने देव शरण कुशवाहा ,के पक्ष पर लाठियों से हमला बोल दिया था ,इस हमले में देव शरण कुशवाहा पक्ष के तीन लोग गंभीर रूप से घायल ही गए  थे ।
पहले हमले की सूचना देने के बाद भी कोखराज पुलिस ने 18 मई के हमले को नहीं दर्ज किया जिससे हमलावरों के हौसले बुलंद हो गए थे ।

 कोखराज थाना पुलिस का संरक्षण मिलने के बाद 4 दिन बाद हमलावरों ने फिर देव शरण कुशवाहा, के परिजनों पर 22 मई की शाम 5 बजे लाठियों से हमला कर दिया।
 दबंगों ने दौड़ा- दौड़ा कर लोगों को लाठियों से पीटा ,लोग जान बचाने के लिए भागते रहे इस खूनी संघर्ष का चश्मदीद पूरा गांव है ,लेकिन दबंगो के आतंक पर किसी ने बीच बचाव का साहस नही किया।

इस हमले में देव शरण कुशवाहा, पुत्र सरजू शरण कुशवाहा की मौके पर मौत हो गई है ,जबकि इस हमले में वीरेंद्र कुमार, राम सुरेमन, रामसरन राजेंद्र कुमार, भोलानाथ, सरजू प्रसाद आदि गंभीर रूप से घायल हैं ,जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है

इसके पूर्व भी  कोखराज पुलिस की लापरवाही उजागर हो चुकी है।
 लेकिन अधिकारियों ने कोखराज पुलिस की लापरवाही को संज्ञान नहीं लिया, जिससे कोखराज पुलिस की लापरवाही बनी रही और वह बराबर हमलावरों से सांठगांठ कर उनका मनोबल बढ़ाते  रहे , जिसका नतीजा आज रसूलपुर, बदले गांव में फिर देखने को मिला ,और हमलावरों ने पूरे गांव को कुरुक्षेत्र बना दिया ।
 क्या इस मामले को भी आला अधिकारी गंभीरता से नहीं लेंगे ,या फिर अपराधियों को मनोबल बढ़ा कर उनसे धना दोहन करने वाली कोखराज पुलिस पर आला अधिकारियों की गाज गिरेगी, इस बात का उत्तर जिले की जनता पुलिस अधिकारियों से चाहती है ।