ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
हॉट स्पॉट क्षेत्र में कराए जाने वाले कार्य की एक लिस्ट बनाई जय:  जिलाधिकारी प्रयागराज
May 14, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

 


प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग), जिलाधिकारी भानु चंद्र गोस्वामी ने आज संगम सभागार में बाहर से आने वाले प्रवासियों के संबंध में सभी नोडल अधिकारियों एवं चिकित्सा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ में ब्लॉक वार विस्तृत समीक्षा की।

उन्होंने सभी ब्लॉकों में आने वाले प्रवासियों की संख्या, उन्हें होम क्वॉरेंटाइन करा कर उनके घरों पर फ्लायर लगाने के साथ संबंधित पोर्टल पर जानकारी अपलोड करने आदि की जानकारी संबंधित ब्लाक के नोडल अधिकारियों से ली।

उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की टीम, निगरानी समिति, आशा व अन्य हेल्थ वर्कर सभी लोग मिलकर आने वाले प्रवासियों में ऐसे सभी लोगों को आवश्यक रूप से चिन्हित करें जिनमें कोविड-19 संबंधी लक्षण परिलक्षित हो रहे हो। उन्होंने  मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि जिन प्रवासियों में लक्षण पाए जा रहे हैं उन सभी का टेस्ट अभियान चलाकर कराएं लक्षण वाले लोगों की पहचान विशेष सजगता के साथ की जाए।

सभी नोडल अधिकारी बाहर से आने वाले प्रवासियों में पाए जाने वाले सिंप्टोमेटिक लोगों की रिपोर्ट तैयार करें। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों को आवश्यक रूप से होम कोरेन्टाइन किया जाए तथा इस बात का ध्यान रखा जाए कि वह अपने घर से बाहर ना निकले।

इसी के साथ जिलाधिकारी ने हॉटस्पॉट क्षेत्रों में किए जाने वाले कार्यों पर भी विस्तृत दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोई भी हॉटस्पॉट क्षेत्र चिन्हित होते ही अधिकतम 2 घंटे के अंदर हॉटस्पॉट संबंधित समस्त कार्रवाई पूरी की जानी चाहिए।

जिलाधिकारी ने कहा कि गूगल मैप से तत्काल यह  निर्धारित कर लें कि कितना एरिया सील किया जाना है, कहां से सड़कों की बैरिकेडिंग किया जाना है, कंटेनमेंट जोन, बफर जोन आदि का तत्काल निर्धारण करते हुए उस एरिया में  सप्लाई चैन को सुचारू करना,  सैनिटाइजेशन, डिसइन्फेक्शनिंग आदि का कार्य तुरंत शुरू कराते हुए 2 घंटे के भीतर इसकी रिपोर्ट प्रस्तुत की जानी चाहिए ।

इस कार्य में किसी भी तरह की लापरवाही पाए जाने पर संबंधित नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी तय की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि हॉटस्पॉट क्षेत्र में कराए जाने वाले कार्य की एक चेक लिस्ट बना ली जाए और निर्धारित बिंदुओं पर पहले से बनाई गई कार्ययोजना के अनुसार तत्काल उस पर अमल प्रारंभ किया जाए ।

इसी के साथ जिलाधिकारी ने आरोग्य सेतु एप की वर्तमान स्थिति की भी समीक्षा की और कहा कि यद्यपि आरोग्य सेतु एप  डाउनलोड करने वाले लोगों की संख्या बढ़ी है किंतु जिस प्रकार से यह ऐप कोरोना से बचाव हेतु हमें तत्काल सजग करता है उस दृष्टि से अधिकतम लोगों को इसे डाउनलोड करना चाहिए । आम जनमानस को इस ऐप के प्रति जागरूक करने के लिए हम सभी को कटिबद्ध होकर सामूहिक प्रयास करना होगा