ALL राज्य , शहर प्रमुख खबर खेल अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
गऱीबों को कठिन समय में राहत पहुंचाने की कवायद प्रधानमंत्री गऱीब कल्याण पैकेज
May 14, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राष्ट्रीय


चंडीगढ़(स्वतंत्र प्रयाग न्यूज): मार्च में घोषित किए गए 'प्रधानमंत्री गऱीब कल्याण पैकेज' (पीएमजीकेपी) ने इस क्षेत्र के गऱीबों को कठिन समय में आवश्यक राहत पहुंचाई है। वित्त मंत्री द्वारा घोषित आर्थिक पैकेजों के क्रम में सब से पहले, इसने कोविड-19 के कारण लागू हुए लॉकडाऊन के प्रभावों का सामना करने में गऱीबों की सहायता की है। इस पैकेज के अंश के तौर पर, सरकार महिलाओं, गऱीब वृद्धजनों व किसानों को नि:शुल्क अनाज व नगद भुगतान प्रदान करवा रही है।

इस पैकेज के अंतर्गत, जन-धन खाता-धारक महिलाओं के खातों में धन जमा किया गया है। हरियाणा के रज्जो के चिहरे पर संतोष दिखाई दिया व उन्होंने कहा कि उनके खाते में 500 रुपए प्राप्त हुए हैं तथा इससे उनके ख़र्चों में सहायता मिलेगी।

मीरा बाई ने अपने खाते में से धन निकलवाने के पश्चात् कहा कि वह धन का उपयोग पारिवारिक वस्तुएं खऱीदने हेतु करेंगे। इस राहत पैकेज लाभार्थियों में किसान भी एक हैं - हरियाणा के एक किसान ने कहा कि एम-किसान के अंतर्गत प्राप्त हुए 2,000 रुपए बीज व खादें खऱीदने में उनकी सहायता करेंगे।

हरियाणा के कौशल्या देवी ने कहा कि एक गैस सिलिंडर मिलने से उनकी बहुत अधिक सहायता हुई है। 'प्रधान मंत्री उज्जवला योजना Ó के लाभार्थी, कौशल्या देवी ने भी कहा मि पहले वह लकड़ी के ईंधन से खाना पकाते थे, जिसके धुंएं के कारण कई प्रकार की समस्याएं होती थीं।

अब उनके पास पर्याप्त समय बच जाता है क्योंकि गैस सिलिंडर से भोजन शीघ्र पकता है। सन्तो ने भारत सरकार का आभार व्यक्त करते हुए कुछ चिंता भी प्रकट की। उन्होंने कहा कि लकड़ी के ईंधन के उपयोग से रोग लगने का बड़ा ख़तरा रहता था। अब वह भोजन पकाने हेतु सिलिंडर का प्रयोग करते हैं।

राहत पैकेज के अंतर्गत उज्जवला योजना के लाभार्थियों को गैस सिलिण्डर भी प्रदान करवाए गए हैं। पीएमजीकेपी ने जहां गऱीबों के हितों की रक्षा को सुनिश्चित किया है, वहीं भारत सरकार ने कोविड-19 के विरुद्ध युद्ध जारी रखते हुए दो दिन लगातार, कल व आज सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) व प्रवासी मज़दूरों हेतु विशेषतया कई उपायों की घोषणा की है