ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
चंडीगढ़ के मनीमाजरा में मिली मां और बेटा-बेटी की गला कटी लाशें
January 23, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

चंडीगढ़ (स्वतंत्र प्रयाग) राज्य में कुछ अज्ञात हमलावरों एक बड़ी घटना को अंजाम दे दिया, जिसके कारण वहां सनसनी फैल गई। हमलावरों ने एक ही परिवार के 3 लोगों की गला काट कर हत्या कर दी। यह घटना मनीमाजरा इलाके की है, जहां हमलावरों ने एक महिला और उसके दो बच्चों की हत्या कर दी।

हमलावर हत्या के बाद फरार हो गये। हत्या की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में ले जांच शुरू कर दी है। सुत्रों के अनुसार महिला के पति संजय अरोड़ा के घायल होने की भी सूचना मिली है उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।मनीमाजरा में घटना स्थल पर मौजूद पुलिस टीम।

 
उधर, मृतक महिला का पति बुधवार को सड़क हादसे के बाद पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती है। फिलहाल पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। बुधवार देर रात दो बजे पुलिस को सूचना मिली कि मनीमाजरा के मॉडर्न कांप्लेक्स स्थित मकान नंबर 5012 में तीन लोगों की हत्या कर दी गई है।

सूचना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मनीमाजरा पुलिस के आलाधिकारी दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे तो मकान में ताला लगा था। पुलिस ने ताला तोड़कर घर में प्रवेश किया तो पांव तले जमीन खिसक गई। अंदर 45 वर्षीय सरिता और उसके बेटे अर्जुन (16) व बेटी सेंसी (22) के लहूलुहान शव पड़े थे।

तीनों की बेरहमी से तेजधार हथियार से गला काटकर हत्या की गई थी। अर्जुन 12वीं में पढ़ाई कर रहा था जबकि सेंसी लॉ की छात्रा थी। पुलिस ने आस-पड़ोस के लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि मकान नंबर 5012 में संजय अरोड़ा अपने परिवार के साथ रहते हैं और उनकी सेक्टर-9 पंचकूला में कृष्णा डेयरी नामक दुकान है।

पड़ोसी कर्मवीर ने बताया कि बुधवार को उन्हें संजय अरोड़ा का पीजीआई से फोन आया कि उनका एक्सीडेंट हो गया है और वह पीजीआई में भर्ती हैं।

सूचना के बाद वह तुरंत उन्हें देखने पीजीआई पहुंच गए। पीजीआई से जब संजय अरोड़ा ने उन्हें अपने घर सूचना देने की बात कही और फोन लगाया तो घर पर किसी ने फोन नहीं उठाया। लगातार कई बार फोन करने पर भी जब घर पर फोन नहीं उठा तो संजय अरोड़ा ने कर्मवीर को घर पर सूचना देने को भेजा। 

कर्मवीर जब मॉडर्न कांप्लेक्स स्थित संजय अरोड़ा के घर पहुंचा तो घर में बाहर से ताला लगा था जबकि अंदर लाइट जल रही थी। शक होने पर कर्मवीर ने पास से ही गुजर रही पीसीआर को बुला लिया। साथ ही पड़ोसी भी इकट्ठा हो गए। इसके बाद पीसीआर ने शक होने पर पुलिस टीम को बुला ली। पुलिस ने जब मौके पर पहुंचकर घर का ताला तोड़ा तो अंदर तीनों के शव पड़े थे।

इससे इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना पर एसएसपी, डीएसपी समेत आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए और मामले की जांच शुरू कर दी गई। देर रात तीन बजे तक इलाके में हड़कंप की स्थित रही। पुलिस का कहना है कि जल्द ही मामले को सुलझा लिया जाएगा।