ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने खादी की नई पहचान दिया है :के पी सिंह
February 20, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग)   खादी फैशन है भारत के प्रधानमंत्री मोदी जी ने खादी की नई पहचान दी है।पूरे माघ मेले की शान खादी ग्रामोद्योग की प्रदर्शनी है यह उदगार राष्ट्रीय खादी ग्रामोद्योग प्रदर्शनी माघ मेला 2020 का समापन के अवसर पर मुख्य अतिथि श्री के पी सिंह पुलिस महानिरीक्षक प्रयागराज मंडल प्रयागराज ने व्यक्त किया।

प्रदर्शनी में कुल 260 स्टाल प्रदेश के अतिरिक्त बिहार झारखंड मध्य प्रदेश राजस्थान असम बंगाल नागालैंड महाराष्ट्र जम्मू-कश्मीर आदि प्रदेशों के खादी व ग्रामोद्योग उत्पादकों की स्टाल लगे थे।यह प्रदर्शनी दिनांक 19 फरवरी से संचालित थी। प्रदर्शनी में खादी एवं ग्रामोद्योगी वस्तुओं की कुल बिक्री लगभग 5 करोड़ एक लाख तीन हजार सात सौ चौरासी रुपये की हुई।

प्रदर्शनी के समापन के अवसर पर मंडल स्तरीय प्रथम द्वितीय तृतीय खादी ग्रामोद्योगी पुरस्कारों का वितरण किया गया। जिनमें त्रिभुवन नाथ पटेल जैविक खाद निर्माण प्रयागराज को प्रथम पुरस्कार ,चंद्रभान गुप्ता फाइबर कूलर निर्माण प्रतापगढ़ द्वितीय पुरस्कार ,श्रीमती गीता देवी नमकीन निर्माण कौशांबी को प्रदान किया गया।

इस अवसर पर माटी कला से संबंधित कारीगरों को 31 विद्युत चालित कुम्हारी चाक का वितरण प्रमाण पत्र सहित किया गया। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत मंडलीय ग्राम उद्योग प्रशिक्षण केंद्र अनुवां प्रयागराज में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम का भी समापन प्रदर्शनी स्थल पर 25 प्रशिक्षार्थियों को प्रशिक्षण प्रमाण पत्र वितरित कर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की गई। परिक्षेत्रीय ग्रामोद्योग अभय त्रिपाठी द्वारा मेले में बिक्री की प्रगति प्रस्तुत की गई ।

इस अवसर पर दिलीप सोनकर सदस्य उत्तर प्रदेश खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड,राम लोचन साहू प्रतिनिधि मंत्री खादी एवं ग्रामोद्योग उत्तर प्रदेश सरकार एवं दिनेश तिवारी मीडिया प्रभारी ने विचार व्यक्त किया। इसके साथ राम औतार यादव जिला ग्रामोद्योग अधिकारी, राकेश मोहन गुप्ता, लालजी घुरिया,गिरजा शंकर पांडे, रामकरण दुबे, सुनील कुमार ,अभिनव श्रीवास्तव, आशुतोष कुमार के साथ-साथ खादी ग्रामोद्योग संस्थानों के प्रतिनिधि भी बड़ी संख्या में उपस्थित रहे। मंच संचालन राकेश गुप्ता ने किया और आभार जिला ग्रामोद्योग अधिकारी राम औतार सिंह यादव द्वारा किया गया।

इससे पहले पुलिस महानिरीक्षक श्री केपी सिंह ने महात्मा गांधी जी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया और प्रशंसनीय कार्य करने वाले एवं खादी व ग्रामोद्योग बोर्ड प्रदर्शनी में उत्कृष्ट सेवाओं को लेकर संस्थाओं और अधिकारियों को सम्मानित किया। प्रजापतियों को सम्मानित करते हुए उदबोधन में श्री के पी सिंह कहा कि 29 तारीख को प्रयागराज में नरेंद्र मोदी जी का आगमन हो रहा है।जिसमें प्लास्टिक की बोतल और मग नहीं होंगे। जिसमें मिट्टी के घड़े या मिट्टी से बने हुए बोतल और गिलास ही दिखेगा। पर्यावरण और वातावरण के लिए माटी से जुड़े उद्योगों से एक स्वच्छ समाज का निर्माण होगा।

खादी ग्रामोद्योग से एक बड़ा रोजगार और उनके कामों की ब्रांडिंग मोदी जी ने किया है कि गांव के अंदर लोगों के हुनर और कला तथा प्रतिभाओं को लेकर खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा प्रोत्साहन एक प्रशंसनीय कार्य है।खादी काटन से कपड़े पहन कर हम विदेशों में जाते हैं तो यह माना जाता है यह हिंदुस्तान की पहचान है।गांधी जी के सपनों से जुड़ा और विकास ने भारत में एक नया आयाम दिया है।

पूरे मेले की शान खादी ग्रामोद्योग की प्रदर्शनी है जहां ग्राम उद्योग से जुड़ी ए टू जेड सामग्री मिलती है।ग्राम उद्योग के द्वारा रोजगार का बड़ा प्लेटफार्म है देश की प्रगति ओर बढ़ रहा है। खादी के नए फैशन से देश में बदलाव हो रहा है। स्वच्छता का माहौल दिखाई दे रहा है। डिजाइन सूत आज नए-नए डिजाइन में खादी कपड़ा समाज को मिल रहा है।

समाज ने खादी ग्रामोद्योग के माध्यम से देश का पैसा देश में रहे जिससे हम सब दुनिया में हम सबसे आगे रहे और आज हिंदुस्तानी सबसे आगे है। खादी ग्राम उद्योग के जरिए महिलाएं लोन लेकर स्वालंबी बनकर अपने भविष्य निर्माण कर रही हैं।माघ मेले में प्रबंधन तंत्र, पुलिस प्रशासन, फायर ब्रिगेड और सभी लोगों ने मिलकर जो कार्य किया है मेले के ऐतिहासिक और पौराणिकता ने पूरे प्रयागराज का भारत में एक नया आयाम  स्थापित किया है।

इस अवसर पर खादी ग्राम उद्योग बोर्ड के सदस्य दिलीप सोनकर ने कहा कि  योगी जी के निर्देश पर खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री  सिद्धार्थ नाथ सिंह जी ने ग्रामीणों के जीवन को नया आयाम देने का जो संकल्प लिया है मुझे विश्वास है कि आने वाले समय में खादी एवं ग्रामोद्योग से जुड़ी हुई सामग्री हर बाजार में दिखाई ही नहीं देगी सर्वाधिक बिक्री वाला केंद्र बनेगा।