ALL राज्य , शहर प्रमुख खबर खेल अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
भाजपा विधायक ने अपनी ही पार्टी पर साधा निशाना कहा एक हाँथ से ले एक हाँथ से दे का चल रहा खेल
July 13, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

 

जबलपुर,(स्वतंत्र प्रयाग), मध्य प्रदेश की राजनीति में पिछले कुछ महिनों से नित नए सियासी रंग देखने को मिल रहे हैं सिंधिया की बगावत के बाद कांग्रेस की सरकार का गिरना, सिंधिया का समर्थन मिलने के बाद भाजपा की सरकार बनना इसके बाद शुरू हुआ सिंधिया समर्थकों को मंत्री पद देने और विभागों को लेकर घमासान।

 

इस बीच कांग्रेस को झटका देकर छतरपुर के बड़ामलहरा से कांग्रेस विधायक प्रद्युमन सिंह लोधी भाजपा में शमिल हो गए सुबह लोधी ने भाजपा की सदस्यता ली और शाम को उन्हें नागरिक आपूर्ति निगम का अध्यक्ष नियुक्ति और कैबिनेट मंत्री का दर्जा दे दिया गया वहीं भाजपा को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल को भी भाजपा ने खनिज निगम का अध्यक्ष बना दिया।

 

लंबे समय से चल रही खींचतान के बाद मंत्रियों को बंटवारे और निगम मंडल में हुई दो नियुक्तियों के बाद भाजपा ग्रामीण विधानसभा पाटन से विधायक अजय विश्नोई ने एक बार फिर भाजपा नेतृत्व पर निशाना साधा है दरअसल भाजपा विधायक अजय विश्रोई ने ट्वीट कर ईशारों ही ईशारों में लोधी और जायसवाल की नियुक्ति पर सवाल खड़े किए है।

 

उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि ‘इस हाथ दे-उस हाथ ले, का शानदार उदाहरण प्रस्तुत हुआ है, म.प्र. की वर्तमान राजनीति में आज जब सरकार ना तो बनाना थी और न गिराना फिर यह क्यों किया गया? आप भाजपा को कहां ले जाना चाहते हैं? जनता को बताए ना बताए भाजपा को यह बताना होगा या फिर हमें संस्कारों का उल्टा पाठ पढ़ाना होगा भाजपा विधायक के ट्वीट ने सियासी गलियारों में हडक़ंप मचा दिया है।

 

इस ट्वीट कर विधायक के मंत्री ना बनाए जाने की नाराजगी से जोडक़र देखा जा रहा है अजय विश्रोई पूर्व में दो बार भाजपा सरकार में मंत्री रह चुके हैं हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब विश्रोई ने ट्वीट कर मंत्रिमंडल पार्टी पर निशाना साधा हो इससे पहले भी अजय विश्रोई ने विभागों के बंटवारे को लेकर पार्टी पर तंज कसते हुए ट्वीट कर कहा था।

 

‘पहले मंत्रियों की संख्या और अब विभागों का बंटवारा,

मुझे डर है कही भाजपा का आम कार्यकर्ता हमारे नेता की इतनी बेइज्जती से नाराज न हो जाय नुकसान हो जाएगा इसके अलावा उन्होंने जबलपुर से किसी विधायक को मंत्री ना बनाए जाने पर भी विश्रोई की पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी जिसमें उन्होंंने आने वाले समय में कुछ बड़ा करने के संकेत दिए गए थे।