ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
अपना दल कमेरा वादी का तहसील बारा में धरना सम्पन्न, ग्यारह सूत्रीय मांग पत्र मुख्यमंत्री के नाम उपजिलाधिकारी के माध्यम से सौपा
July 21, 2020 • एस पी एन न्यूज़ डेस्क • राज्य , शहर

 

बारा/प्रयागराज, (स्वतंत्र प्रयाग), आज दिनांक 20 जुलाई को अपना दल कमेरा वादी के कार्यकर्ताओं ने तहसील बारा में एक दिवसीय धरना दे कर विधान सभा बारा महासचिव शिव बहादुर पटेल की अगुआई में केंद्र तथा प्रदेश सरकार के नीतियों तथा महगाई के खिलाफ किसानों की समस्या को लेकर 11 सूत्रीय मांगों को ले कर उपजिलाधिकारी बारा के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा ।

आज सुबह से अपनादल के कार्यकर्ताओं ने एकत्र हो कर केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों के विरोध में 11 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री को उपजिलाधिकारी के माध्यम से ज्ञापन सौंपा ।। 

अपना दल के कार्यकर्ताओं ने भागीदारी संकल्प मोर्चा उत्तर प्रदेश के आह्वान पर जनसमस्याओं को लेकर अपना दल कमेरा वादी के प्रयागराज के बारा तहसील के विधानसभा महासचिव शिव बहादुर पटेल की अगुआई में अतिबरिस्ति एवं सूखे से प्रभावित किसानों को 30 तीस हजार प्रति एकड़ मुआवजा दिलाने की मांग किया । 

कानून ब्यवस्था चुस्त दुरुस्त कर पीड़ितों को न्याय मिले तथा प्रतापगढ़ में पीड़ित जिनके मकान जला दिए गए उनको उचित मुआवजा दिया जाय।

 प्रदेश के किसानों को यूरिया तथा डी ए पी में सब्सिडी मिले उत्तर प्रदेश में बेरोजगारों को रोजगार दिलाया जाय किसानों को उनकी फसल का समर्थन मूल्य तथा कृषि को उद्योग का दर्जा दिया जाय । 

नवीन मंडी स्थल जसरा प्रयागराज में पानी की समुचित ब्यवस्था तथा सुलभ शौचालय की ब्यवस्था कराई जाय आवारा पशुओं को गौशाला में रखा जाय पेट्रोल तथा डीजल की बढ़ती कीमतों को कम किया जाय छोटे तथा मझोले किसानों के केसीसी तताबिजली के बिल माफ किया जाय ।

लॉकडाउन के चलते गरीब किसानों तथा मजदूरों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है जिससे उनके बच्चों की अप्रैल से जुलाई तक कि फीस माफ की जाय ।

 इस मौके पर प्रमुख रूप से शिव बहादुर पटेल विधानसभा बारा महासचिव सुशील पटेल मीडिया प्रभारी बारा रमेश पटेल एडवोकेट बारा , संतोष चौहान एडवोकेट बारा , अखिलेश सिंह , राजकुमारी पटेल शशि प्रकाश पटेल ,विजय सिंह आदि लोग मौजूद रहे ।

 धरना के बाद उपजिलाधिकारी बारा को ग्यारह सूत्रीय मांग पत्र सौंपा।