ALL प्रमुख खबर राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय राज्य , शहर खेल आर्थिक मनोरंजन स्वतंत्र विचार अन्य
अमिलिया तरहार के ग्रामीणों पर बार-बार मंडरा रहा है पेयजल का संकट ,सप्ताह भर में ही दो बार जली  जल निगम की मोटर
January 24, 2020 • दीपक पांडेय • राज्य , शहर

 

 

प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग) लखनऊ प्रयागराज लालापुर से चंद दूरी पर स्थित  गांव इमिलिया तरहार में जल निगम क्षेत्र का इकलौता पेयजल का जलनिगम है जहाँ से दर्जनों गावों के लिए पीने के लिए पानी की सप्लाई की जाती है।

इस जलनिगम में कर्मचारियों से लेकर मरम्मत के लिए रोना पड़ रहा है। यहाँ पर मात्र एक जलनिगम का
 कर्मचारी तैनात है जिसके सहारे दर्जनों गांवों की पानी की आपूर्ति की जिम्मेदारी है।


 बता दें कि इस जलनिगम का हालत इतनी दयनीय है कि यहाँ के पम्प से एकदिवसीय या दो-दिवसीय ही पेयजल की आपूर्ति सुचारू रूप से हो पाती है, बाकी दिन लोगों को पानी पीने के लिए बार-बार क़िल्लतों से रुबरु होना पड़ता है
जबकिआये दिन कोई न कोई खराबी के कारण पेय जल की आपूर्ति ठप हो जाती है। वहीं पर कभी कभी तो उपभोक्ता अपने से ही पाइप लाइन को सुधारने में जुट जाते है किंतु अधिकारी हैं कि कुम्भकर्णी नींद में सो रहे है।

कर्मचारियों पर इस बात को लेकर कोई फर्क ही नही पड़ता है जबकि ग्रामीणों ने कई बार जेई तथा उच्च अधिकारियों से भी इसकी शिकायत की, किन्तु अधिकारियों व कर्मचारियों की कुंभकर्णी नींद है कि खुलने का नाम ही नहीं लेती । वहीं पर उपभोक्ता परेशान है कोई भी सुनने वाला नही है।

जबकि इसी बाबात को लेकर क्षेत्रीय ग्रामीणों का कहना है कि बार-बार आ रहे ,घोर पेयजल के संकट से निजात पाने के लिए इस संबंध में कहां शिकायत करें कि अघोषित कोई भी कर्मचारी  सुनने को तैयार ही नही है। 


इस संबंध में जब स्वतंत्र प्रयाग अखबार के रिपोर्टर ने फोन से संपर्क करने का प्रयास किया तो जेई महोदय का फोन नेटवर्क एरिया से बाहर बता रहा है। अब इसके पीछे की क्या वजह है। यह तो विभाग लोग ही जाने किन्तु दर्जनों गांवों के ग्रामीण उपभोक्ता शुद्ध पेयजल के संकट से जूझ रहे है ।